मुजफ्फरनगर सीट पर बिगडी रालोद की महागठबंधन से बात!

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी से गठबंधन में मनमाफिक सीटें न मिलने से खफा राष्ट्रीय लोकदल ने चुनावी गठबंधन के लिए नए दूसरे विकल्पों पर विचार शुरू कर दिया है। खबर है यूपी में सपा-बसपा के गठबंधन को रोकने के लिये भाजपा रालोद की मदद ले सकती है।
दरअसल राष्ट्रीय लोकदल वेस्ट यूपी के कई जिलों में प्रभावी दखल रखती है। सपा-बसपा का गठबंधन भाजपा के लिये बडी परेशानी है ये भाजपा का शीर्ष नेतृत्व भी जानता है। वहीं गठबंधन में 2 सीटे मिलने से रालोद काफी गुस्से में है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि बसपा रालोद को 2 सीटे देना चाहती थी, जबकि अखिलेश 3 सीटो के लिये तैयार थे। इसके बाद रालोद ने दो सीटे लेकर लखनऊ की प्रेस कांफ्रेंस में बैठने से मना कर दिया। जानकारों के मुताबिक, रालोद किसी भी बड़े दल से समझौता कर अपनी और साथियों की सीटें आसानी से निकाल सकने की स्थिति में है। इसी वजह से खफा रालोद ने अब भाजपा या फिर कांग्रेस के साथ नए गठजोड़ के विकल्प तलाशने शुरू कर दिए हैं। इसके अलावा ये भी खबर है कि बसपा मुजफ्फरनगर सीट रालोद को नहीं देना चाहती, इसलिये रालोद को 2 सीटों में मथुरा और बागपत ऑफर की गई थी। इससे भी रालोद नाराज थी, क्योंकि चौधरी अजित अघोषित तैयारी मुजफ्फरनगर से चुनाव लडने की कर चुके थे।

Loading…