शामली में अधिकारियों के न पहुंचने पर किसानों ने लगाया जमा, हंगामा

शामली। जिले की सहकारी गन्ना समिति शामली में सवेरे से लाईनों में लगे किसानों ने अधिकारियों के समय न पहुंचे से आक्रोशित होकर जमकर हंगामा व प्रदर्शन किया। उन्होने कम्प्यूटर खराब होने, पर्चियों का वितरण न करने, गन्ना कलेंडर वितरण न करने तथा पूछताछ करने पर किसानों से अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। उन्होने डीएम व एसपी के आदेशों की भी गन्ना अधिकारियों पर अवेहलना करने का आरोप लगाया है।
मंगलवार को जिले की सहकारी गन्ना समिति शामली में किसानों ने जमकर हंगामा व प्रदर्शन किया। किसानों ने आरोप लगाया कि अधिकांश किसानों के अभी तक गन्ना पर्चियों नही भेजी गई है, जिसके लिए किसान अधिकारियों के कार्यालयों के चक्कर काट रहे है। गन्ना माफियाओं ने गन्ना सचिव से गांठगांठ कर पर्चियां वितरित की गई है। मात्र कुछ ही गांवों के अलावा अभी तक गन्ना कलेंडर भी वितरित नही किया गया। किसान सवेरे सात बजे से गन्ना समिति कार्यालय में आकर लाईनों मे लग जाते है लेकिन दोपहर 12 बजे तक भी कोई अधिकारी गन्ना सचिव या गन्ना अधिकारी अपने कार्यालय में नही पहुंचे। कम्प्यूटर खराब पडे है, लेकिन कोई कर्मचारी अपने कार्यालय में आने को तैयार नही है। अगर किसान पूछताछ करते है तो अधिकारी किसानों से अभद्रता पर उतारू हो जाते है। जिससे किसानों को भारी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। उन्होने आरोप लगाया कि किसानों की पर्चियों व पक्के कैलेंडर की समस्याओं के मद्देनजर समस्या समाधान के बजाय पिछले पंद्रह दिनों से गन्ना सुपरवाइजर, सचिव, डीसीओ तक मोबाइल दिन और शाम के समय मोबाइल बिजी हो जाते हैं। लगातार मोबाइल पर काल करने के बाद गन्ना विभाग के अफसरों से बात होना कठिन हो गया है। उन्होने गन्ना अधिकारियों पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के आदेशों की भी अवेहलना करने का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की। इस अवसर पर जयपाल सिंह, उमेश प्रधान, नरेन्द्र सिंह, सुधीर कुमार, हरेन्द्र बहावडी, कपिल भैसवाल, सुधीर कुमार आदि मौजूद रहे।