शामली में करोडों की ठगी के शिकार लोगों ने सांसद को ज्ञापन दे उठाई ये मांग

शामली। ऑल इंवेस्टर सेफ्टी ऑर्गेनाईजेंशन के पदाधिकारियों ने कैराना सांसद तबस्सुम हसन को ज्ञापन देकर भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड व सेवानिवृत न्यायमूर्ति आरएम लोढा समिति में फंसे समस्त भारत के 5 करोड 85 लाख पीएसीएल पीडित विनेशकों के 49100 करोड रूपये को वापस दिलाये जाने की मांग को सांसद में उठाये जाने की अपील की है।
शुक्रवार को ऑल इंवेस्टर सेफ्टी ऑर्गेनाईजेंशन के पदाधिकारियों ने कैराना सांसद तबस्सुम हसन को ज्ञापन सौंपा। जिसमें उन्ळोने कहा कि पीएसीएल कंपनी में जमा पूंजी 2013 से बकाया चल रहा है। पीएसीएल के निवेशकों किसान, मजदूर, व अति पिछडे वर्ग एवं छोटे कर्मचारी से लेकर बडे अधिकारी तक है। जिन्होने भविष्य में अपने बच्चों की पढाई, शादी व अन्य आवश्यक कार्यो के लिए अवना पेट काटकर भारत सरकार से पंजीकृत कंपनी में पीएसीएल जमा कराया था। उक्त कंपनी देश में 1983 से विभिन्न रूपों में काम कर रही थी। समय समय पर निवेशकों का रूपया भी वापस किया जा रहा था। लेकिन योजनाओं को अवैध बताते हुए गत 22 अगस्त 2014 को सेबी ने करोबार बंद कर दिया। जिससे भारतीय प्रतिभूति एवं विनियम बोर्ड व सेवानिवृत न्यायमूर्ति आरएम लोढा समिति में फंसे समस्त भारत के 5 करोड 85 लाख पीएसीएल पीडित विनेशकों के 49100 करोड रूपये डूब गए। उन्होने उक्त रूपयों को वापस दिलाये जाने की मांग को सांसद में उठाये जाने की अपील की है। इस अवसर पर सुभाषचंद, अनीस अहमद, राम सिंह, वेदपाल शर्मा, मान सिंह, सूरजपाल, रामछैल, शिवम सिंघल, आशीष चौधरी, आलम, रामपाल आदि मौजूद रहे।