शामली के इस गांव का है सहारनपुर मुठभेड में मारा गया 50 हजारी ओमपाल

सहारनपुर। सहारनपुर में बदमाशों और पुलिस के बीच करीब आधा घंटा तक हुई फायरिंग में एक पचास हजार के ईनामी बदमाश समेत दो बदमाश मारे गए, जबकि एक दरोगा और एक पुलिस कर्मी गंभीर रुप से घायल हो गए। मारे गये एक बदमाश की पहचान शामली के थानाभवन क्षेत्र के गांव लुहारी निवासी 50 हजार के ईनामी ओमपाल के रुप में हुइ।, जबकि दूसरे बदमाश का नाम विक्की बताया जा रहा है। विक्की भी थानाभवन क्षेत्र के जलालाबाद का रहनेवाला था।


थाना सरसावा पुलिस को रविवार की सुबह करीब पांच बजे जानकारी मिली थी कि कुछ बदमाश थाना क्षेत्र में अपराधिक वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं, जिस पर पुलिस बल बदमाशों की तलाश में निकल गई। थाना सरसावा क्षेत्र के गांव इब्राहिमी के जंगल में बदमाशों की लोकेशन ट्रेस हुई तो पुलिस ने जंगल को चारों ओर से घेर लिया। जंगल में दो बदमाशों के छिपे थे। जिन्हें पुलिस ने घेर लिया। स्वयं को पुलिस से घिरा देख बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी,

MUZAFFARNAGAR NEWS ऐप पर बेहतर खबरें पाने के लिये अपने ऐप को यहां क्लिक करके अपडेट जरुर कर लें

जिस पर जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की। करीब आधा घंटे तक दोनों ओर से हुई फायरिंग में एक पचास हजार का ईनामी बदमाश समेत दो बदमाश मारे गए। गोली लगने से थाना सरसावा में तैनात दरोगा दुष्यंत और सिपाही रजनीश गंभीर रुप से घायल हो गए। दोनों घायलों को उपचार के लिए जिला चिकितसालय में भर्ती कराया गया है। मृतक एक बदमाश की शिनाख्त 50 हजार के ईनामी बदमाश ओमपाल के रूप में हुई जो जनपद शामली के थानाभवन थाना क्षेत्र के गांव लुहारी का रहने वाला है। दूसरे बदमाश का नाम विक्की बताया जा रहा है। दोनों बदमाशों की अपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है। थानाध्यक्ष सरसावा आदेश त्यागी ने बताया कि मृतक बदमाश ओमपाल ने गांव सौराना निवासी उमेश का अपहरण किया था, जिसके बाद नरेश और बदमाशों की तलाश में लगी थी। आज सुबह पता चला​ कि गांव इ्ब्राहिमी के जंगलों में कुछ बदमाश छिपे हुए हैं। नरेश को अपहरण कर्ताओं के चंगुल से छुडवा लिया गया है।

loading…