पहले होगी इन किसानों की कर्जमाफी, बाद में आयेगा बाकी का नंबर

जयपुर। प्रदेश के नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि फसल ऋण माफी के लिए वित्तीय संसाधनों का जुगाड़ किया जा रहा है। तभी जाकर फसली ऋण माफी योजना पर कार्य होगा। शासन सचिवालय में पत्रकारों से बातचीत में धारीवाल ने कहा कि सभी किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्जा माफ होगा, चाहे कोई डिफाल्टर हो या कोई रेग्युलर हो।
उन्होंने कहा कि 30 नंवबर 2018 तक का सभी किसानों का कर्जा माफ हो जाएगा। सबसे पहले सहकारी बैंकों और भूमि विकास बैंकों के किसाना को राहत दी जा सकती है। इसके बाद राष्ट्रीयकृत सहकारी बैंकों की ऋण माफी का आकलन होगा।उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव के जरिये सभी जिला कलेक्टरों को खत भी लिखकर यह जानकारी मांगी जा रही है कि उनके जिले में वर्ष 2014 से दिसंबर 2018 तक कितने किसानों ने उपज का दाम नहीं मिलने पर आत्महत्या की है। ऐसे किसानों का भी ऋण माफ किया जाएगा।

Loading…