कैराना उपचुनाव से पहले पीएम मोदी ने चला सबसे बडा दांव, रालोद-सपा गठबंधन का खेल बिगाडने की पूरी तैयारी

loading...

शामली/बागपत। कैराना उपचुनाव से एक दिन पहले बीजेपी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कैराना के सिसासी मैच की आखरी बाल पर सिक्सर लगवाने की रणनीति पर आगे बढ़ रही है। बीजेपी ने कैराना उपचुनाव में एक तरह से सबसे बड़ी चाल चल दी है। जिस वक्त सारा विपक्ष प्रचार बंद कर चुका होगा तब पीएम शामली जिले की सीमा से सटे बागपत में एक बड़ी रैली को संबोधित करेंगे। मतदान के एक दिन पहले यानी 27 मई को पीएम बागपत में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के मौके पर बड़ी रैली को संबोधित करेंगे।


इस रैली में पीएम मोदी अपनी सरकार के चार साल के काम गिनाएंगे और आगे के लिए वादे करेंगे। पीएम की यह रैली चुनाव आचार संहिता के दायरे में भी नहीं आएगी। मोदी की यह रैली कैराना उपचुनाव में बीजेपी के ट्रंप कार्ड के तौर पर देखी जा रही है। सुप्रीम कोर्ट के 31 मई के पहले से पहले ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को शुरू करने के निर्देश के बाद यह बदलाव किया गया है।

Yogi Adityanath, Narendra Modi, Preeti Mahapatra, Gorakhpur Lok Sabha seat, BJP, by-election,योगी आदित्यनाथ,नरेन्द्र मोदी,प्रीति महापात्रा,गोरखपुर लोकसभा सीट,भाजपा,उपचुनाव
गोरखपुर और फूलपुर चुनाव में झटका खा चुकी बीजेपी का प्रयास है कि कैराना उपचुनाव में वह हर हाल में जीत हासिल करे और इसके लिए नेताओं की पूरी फौज कैराना में सक्रिय है। सीएम और डेप्युटी सीएम भी सभाएं करेंगे। लेकिन बीजेपी ने अब अपनी सबसे बड़ी चाल इस चुनाव में चली है। कैराना उपचुनाव में 26 मई को प्रचार समाप्त हो जाएगा। विपक्ष को झटका दने के लिए अगले दिन यानि 27 मई को पीएम नरेंद्र मोदी शामली जिले से सटे बागपत जिले की धरती पर एक जनसभा को संबोधित करेंगे। जिसका कार्यक्रम तय हो चुका है।

loading...


इस जनसभा को सफल बनाने के लिए और पार्टी के आगामी अन्य कार्यक्रमों को लेकर प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल और पश्चिम क्षेत्र के अध्यक्ष अश्वनी त्यागी, प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने शनिवर को मुजफ्फरनगर में पश्चिम क्षेत्र के पदाधिकारियों की बैठक ली। बैठक में सभी पदाधिकारियों को सभा को लेकर भी दिशा-निर्देश दिए गए हैं। माना जा रहा है कि बागपत में आयोजित होने वाली इस जनसभा में प्रधानमंत्री केंद्र सरकार के चार साल पूरे होने पर उपलब्धि गिनाएंगे। प्रधानमंत्री क्षेत्र के लोगों को ईर्स्टन पैरिफेरल का तोहफा भी देंगे, जिसका उद्घाटन 27 मई को ही होगा।

Ajit Singh(Portrait)

सियासी हलकों में माना जा रहा है कि मोदी की यह रैली कैराना उपचुनाव में बीजेपी का ट्रंप कार्ड साबित हो सकती है। एक तरह से कैराना नहीं आकर भी मोदी इस रैली से यहां के चुनाव को पुरी तरह साधेंगे। इससे पहले 26 या 27 को मुलायम सिंह के क्षेत्र आजमगढ़ में मोदी की रैली होना तय था। अब बागपत रैली की वजह से उनके कार्यक्रम में बदलाव तय है। माना जा रहा है सुप्रीम कोर्ट के 31 मई के पहले से पहले ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे को शुरू करने के निर्देश के बाद यह बदलाव किया गया है। बीजेपी के वेस्ट यूपी अध्यक्ष अश्विनी त्यागी ने 27 की बागपत रैली की पुष्टि की।

मुजफ्फरनगर व शामली के ताजा समाचार पाने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक कर एप इंस्टाल करें

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.sandeepkumar30982.muzaffarnagar_news

loading...

Loading…