मुजफ्फरनगर में पटाखे छुडाने को लेकर जमकर चले धारदार हथियार, कई घायल

मुजफ्फरनगर। दीपावली पर पटाखे छुडाने को लेकर दो पक्षों में जमकर धारदार हथियार चले। इस संघर्ष में दोनों पक्षों के कई लोग घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक युवक की नाजुक हालत को देखते हुए मेरठ के लिए रेफर कर दिया गया है। इस मामले में दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर संगीन आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी है, जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।
शहर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम खांजापुर निवासी रामपाल पुत्र रघुवीर सिंह ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि दीपावली की रात में उसका पुत्र अपने घर के गेट पर बैठा हुआ था, तो उसी समय गांव के ही गोपाल व बालेश्वर आये और उनहोंने शराब के नशे में उसके घर के बाहर पटाखे छुडाने शुरू कर दिये, जिस पर उसके पुऋ रोहित ने उन्हें ऐसा करने से मना किया, तो आरोपियों ने उसके पुत्र के साथ गाली-गलौच शुरू कर दी। उसके पुत्र ने गाली-गलौच का विरोध किया, तो आरोपी उसे धमकी चल दिये, जिस उसका पुत्र पुलिस को सूचना देने के लिए पुलिस चौकी पर जाने लगा, तो आरोपियों ने उसे पकडकर अपने घर में खींच लिया, जिस पर उसका पुत्र उनके हाथ से छूटकर शोर मचाते हुए बाहर को भागा, तो आरोपी धारदार हथियार लेकर उसके पीछे आ गए और जान से मारने की नियत से धारदार हथियारों से हमला कर दिया। शोर-शराबा होने पर आसपास के काफी लोग आ गए, जिन्होंने उसके पुत्र को बामुश्किल छुडाया और गंभीर हालत में उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी नाजुक हालत को देखते हुए उसे मेरठ के लिए रेफर कर दिया गया।
दूसरी ओर बलेश्वर पुत्र मोल्लर ने पुलिस को दी गई तहरीर में बताया कि उसके पडौस में रहने वाले बाली पुत्र सोमदत्त पटाखे छुडाकर उसके घर में फेंक रहा था, जिसे मना किया, तो वह अपने साथियों के साथ उसके घर में घुस आया और हमला कर दिया, जिसमें उसका भांजा प्रदीप, पत्नी सरेसों तथा उसे गंभीर चोटें आई। आरोप है कि आरोपी उसके घर में रखे पचास हजार रुपये भी उठाकर ले गए। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसके भांजे व पत्नी की हालत गंभीर बनी हुई है।

loading…