मुजफ्फरनगरः भोपा में दिनभर हंगामा, देर शाम मिली लापता डाक्टर की लाश

मुजफ्फरनगर। जनपद के भोपा थाना क्षेत्र में कस्बा मोरना निवासी लापता पशु चिकित्सक की बरामदगी की मांग को लेकर आज लोगों ने थाना भोपा पर जमकर हंगामा काटा। चिकित्सक की हत्या की आशंका के चलते लोगों में आक्रोश फैल गया और उत्तेजित लोगों ने भोपा तथा मोरना कस्बों में जाम लगा दिया। इस दौरान लोगों की पुलिस अधिकारियों के साथ नोकझोंक भी हुई। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसपी सिटी तथा भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर हालात को संभालने में जुट गए। देर शाम पशु चिकित्सक की लाश ककरौली थाना क्षेत्र के गांव दौलतपुर के जंगल से बरामद की गई। पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है।


प्राप्त जानकारी के मुताबिक भोपा थाना क्षेत्र के ग्राम मोरना निवासी पशु चिकित्सक सतीश पुत्र सत्यपाल शुक्रवार की सुबह घर से कार्य करने के लिए निकला था, परन्तु जब वह शाम तक भी वापिस नहीं लौटा, तो परिजनों ने उसका मोबाइल फोन मिलाया। पशु चिकित्सक का फोन बंद आया। परिजनों ने अपने स्तर से उसकी सभी संभावित स्थानों पर तलाश की, परन्तु उसका कहीं कुछ पता नहीं चल सका। परिजनों ने अनहोनी की आशंका के चलते भोपा थाने में चिकित्सक के लापता होने की तहरीर दी। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चिकित्सक के फोन को सर्विलांस पर लेकर उसकी लोकेशन निकलवाई, तो उसकी लोकेशन ककराला निवासी कामिल के घर पर आई।

पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया और उससे गहनता से पूछताछ की। आरोपी ने खुलासा किया कि उसने चिकित्सक की हत्या कर दी है और उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए जानसठ थाना क्षेत्र के ग्राम चुडियाला निवासी बंगालियों को दिया है, जो शव को रेहडे में रखकर ले गये हैं। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर चुडियाला में दबिश दी, तो बंगाली वहां से गायब मिले, परन्तु पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर वह रेहडा बरामद कर लिया है, जिसमें शव को ले जाये जाने की बात कही गई है। भोपा पुलिस व क्राईम ब्रांच द्वारा लगातार शव बरामद कराने के प्रयास किये जा रहे थे और शाम के समय पुलिस ने ककरौली थाना क्षेत्र के दौलतपुर के जंगल से चिकित्सक का शव बरामद कर लिया। शनिवार सुबह चिकित्सक के परिजन जब थाने पहुंचे, तो उन्हें चिकित्सक की हत्या का आभास हो गया था और उन्होंने कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पर हंगामा करना शुरू कर दिया था। चिकित्सक की हत्या की सूचना पर ग्रामीण बडी संख्या में थाने पर एकत्रित हो गए थे और उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया था।

ग्रामीणों ने भोपा व मोरना के बाजार बंद कराकर मुजफ्फरनगर-शुकतीर्थ मार्ग पर जाम लगा दिया था। हंगामे की सूचना पर पुलिस के आला अधिकारी व छपार, सिखेडा, पुरकाजी, जानसठ थानों की पुलिस बल मौके पर पहुंच गए थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए अर्द्धसैनिक बलों को भी बुला लिया गया था। पुलिस अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम खुलवाया। पुलिस ने ग्रामीणों का आश्वासन दिया था कि वह शीघ्र ही चिकित्सक का शव बरामद कर अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लेंगे। भोपा थाना पुलिस व क्राईम ब्रांच के संयुक्त प्रयासों से देर शाम चिकित्सक का शव ककरौली थाना क्षेत्र के ग्राम दौलतपुर के जंगल से बरामद कर लिया गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और उसका पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

सतीश कुमार की बरामदगी की मांग को लेकर आज बड़ी संख्या में लोगों ने थाना भोपा पर प्रदर्शन किया। इस दौरान उत्तेजित लोगों की पुलिस अधिकारी के साथ जमकर नोकझोंक हुई। यह भी चर्चाएं सामने आई कि पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है, जिसने पशु चिकित्सक की हत्या करना स्वीकार कर लिया है। इसके बाद लोगों में आक्रोश फैल गया। लोगों ने इस मामले का खुलासा करने की मांग करते हुए भोपा तथा मोरना में जाम लगा दिए। हालत बिगड़ते देख वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक नगर ओमवीर सिंह तथा कई थानों की फोर्स के साथ भोपा पहुंचे। पुलिस अधिकारी उत्तेजित लोगों को समझाने का प्रयास करते रहे। मौके पर मौजूद भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉक्टर वीरपाल निर्वाल तथा जिला पंचायत सदस्य अमित राठी भी लोगों को समझाने बुझाने का प्रयास करते रहे, मगर लोगों का रोष शांत नहीं हुआ।

Loading…