गठबंधन की 2 सीटों पर रालोद ने बोली ये बडी बात

लखनऊ। बसपा अध्यक्ष मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में 38-38 सीटें खुद बांट ली और दो कांग्रेस के लिए छोड़ी है लेकिन, जिन दो सीटों पर पत्ता नहीं खोला उसको लेकर कयासों का दौर शुरू हो गया है। उधर गठबंधन के ऐलान के बाद राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश प्रवक्ता अनिल दुबे ने कहा कि ये सपा और बसपा ने गठबंधन का ऐलान किया है. अभी रालोद के साथ कोई समझौता नहीं हुआ है. सम्मानजनक सीटें मिलने पर ही रालोद गठबंधन में शामिल होगी. पार्टी को उम्मीद है कि उसे अभी और सीटें मिलेंगीं. अभी सिर्फ सपा और बसपा के बीच ही गठबंधन हुआ है।
सूत्रों का कहना है कि अगर रालोद दो सीटों पर राजी हुआ तो वह गठबंधन में रहेगा अन्यथा राहें जुदा हो जाएंगी। बहुत हुआ तो अखिलेश यादव अपने कोटे से एक सीट दे सकते हैं। इस स्थिति में रालोद की ओर भाजपा की भी नजर टिकी है। भाजपा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट मतों को मजबूती से पकडऩे के लिए चौधरी अजित सिंह के साथ समझौता कर सकती है। चौधरी पहले भी भाजपा के साथ गठबंधन करके फायदे में रह चुके हैं।

Loading…