हेडमास्टर ने बताया डकैत तो सीएम कमलनाथ ने किया ये चौंकाने वाला काम

भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने ऊपर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले हेडमास्टर मुकेश तिवारी को माफ करते हुए बहाल करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक संदेश भी लिखा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि प्रदेश में बदले की भावना से काम नहीं किया जाएगा। असल में, जबलपुर के शासकीय प्राथमिक स्कूल में पदस्थ हेडमास्टर मुकेश तिवारी ने एक सभा में मुख्यमंत्री कमलनाथ को लेकर आपत्तिजनक के लिए अमर्यादित बयान दिया था, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। वीडियो के आधार पर जिले के कांग्रेस नेता ने जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद गुरुवार को हेडमास्टर को सस्पेंड कर दिया गया था। आदेश में शिक्षक की हरकत को सिविल सेवा आचरण का उल्लंघन माना गया था।

अब खुद मुख्यमंत्री ने इस मामले में दखल दी है। उन्होंने हेडमास्टर का निलंबन आदेश वापस लेने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एक संदेश भी जारी किया है, जिसमें प्रदेश सरकार के काम करने के तरीके के बारे में विस्तार से लिखा है। कमलनाथ ने माना है कि लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सभी को है, मैं सदैव इसका पक्षधर रहा हूं। इनके निलंबन से उनके आश्रितों को परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है। एक मुख्यमंत्री पर आपत्तिजनक टिप्पणी से इन पर निलंबन की कार्यवाही की जाए, यह नियमों के हिसाब से सही हो सकता है, लेकिन में व्यक्तिगत रूप से इन्हें माफ करना चाहता हूं। मैं नहीं चाहता हूं कि इन पर कोई कार्रवाई हो। एक शिक्षक का काम होता है, समाज का नवनिर्माण करना। विद्यार्थियों को अच्छी शिक्षा देना। उम्मीद करता हूं कि वे भविष्य में अपने कर्तव्यों पर ध्यान देंगे।
हेडमास्टर मुकेश तिवारी ने कहा, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बड़ा दिल दिखाते हुए मुझे माफ किया है। मुझे यही उम्मीद थी कि जब उनके संज्ञान में ये मामला आएगा तो वो जरूर बड़ा दिल दिखाएंगे। इतना ही नहीं तिवारी ने वीडियो में छेड़छाड़ का भी आरोप लगाया है।

Loading…