वाट्स एप चैट करके बुलाये लडकी तो बिल्कुल मत जाना, क्योंकि

वाट्स एप, whatsapp ऐप्स, वाट्स एप डाउनलोड, whatsapp डाउनलोड, वॉट्सअप, whatsapp download karna hai, whatsapp open, whatsapp chahiye, ladkiyo ke whatsapp number

इंदौर। यदि आप वाट्स एप पर अननोन नंबर पर चैटिंग करते हैं तो सावधान रहें। मप्र के इंदौर में युवतियों की एक ऐसी गैंग सक्रिय है जो बहाने से आपका नंबर या किसी वाट्स एप ग्रुप से आपका नंबर लेकर पहले मैसेज करेंगी, फिर दोस्ती कर चैटिंग के जरिए मिलने बुलाएंगी। जब आप मिलने जाओगे तो वह अपने गुंडे साथियों के साथ मिलकर आपको लूट लेंगी। ऐसी एक गैंग को क्राइम ब्रांच ने पकड़ा है। इसमें एक युवती सहित उसके दो बदमाश हाथ आए हैं।

बहू से ससुर ने किया रेप तो सास ने मार दी गोली

गैंग की तीन लड़कियां और तीन लड़के अभी फरार हैं। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र को सूचना मिली थी कि शहर में भोले-भाले लोगों को वॉट्सऐप के जरिए चैटिंग कर दोस्ती के जाल में फंसाने वाली युवतियां कुछ बदमाशों के साथ मिलकर लूट की वारदात कर रही हैं। इस गैंग ने थाना लसूड़िया, बाणगंगा और खुड़ैल में तीन लोगों को इसी तरह लूटा था। डीआईजी ने गिरोह की धरपकड़ के लिए एसपी हेड क्वार्टर मोहम्मद युसुफ कुरैशी और एएसपी क्राइम ब्रांच को निर्देशित किया। क्राइम ब्रांच ने बाणगंगा इलाके के लिस्टेड गुंडे सचिन उर्फ चीना पिता गजेंद्र सिंह ठाकुर (19) निवासी साईं सुमन नगर, गिरोह में शामिल युवती कोमल पिता संजय दानपुने (19) निवासी कुशवाह नगर और साथी अर्जुन को गिरफ्तार किया है।

इस गैंग के छोटे उर्फ सुंदरम, भूरा, पिंटू, पायल और दो अन्य लड़कियां अभी फरार हैं। 13 मई को शाजापुर जिले के देवली गांव में रहने वाले मनीष पिता चमेशचंद्र पटवा ने सतवास थाने में बाबू, समीर और दो लड़कियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। मनीष ने बताया कि गांव की ही एक लड़की ने उसे एक सुनसान जगह पर मिलने के लिए बुलाया था। इस पर वह एक दोस्त को लेकर कार से उससे मिलने पहुंचा था। लवकुश चौराहे पर महिला और उसकी एक सहेली मिली। हम सब कार से एक पार्क पहुंचे, यहां पर एक लड़का मिला, जिसे लड़कियों ने अपना दोस्त बताया।

यहां से हम सब कन्नौद के जंगल में पहुंचे। यहां पर जब हम लड़कियों से एकांत में बात करने लगे तो उसका साथी कार लेकर भाग गया। इसी प्रकार 2 जून को महावीर बाग के रहने वाले हर्षदीप जैन ने बाणगंगा थाने पर लूट की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पीड़ित ने बताया कि कोमल ने उससे पहले वॉट्सऐप के बहाने करीबी बढ़ाई और फिर एकांत में मिलने का कहते हुए लवकुश चौराहे पर बुलाया। यहां से वह उसे लेकर टिगरिया बादशाह गई। यहां हम सुनसान में बातचीत कर रहे थे, तभी सचिन उर्फ चीना और छोटे अपने एक साथी के साथ पहुंचा और बोला कि तूने लड़की का रेप किया है। इसके बाद वे मेरी दो अंगूठी, पर्स, एटीएम कार्ड, दो मोबाइल और नकदी ले गए।






एएसपी अमरेंद्र सिंह ने बताया आरोपी चीना कोमल के साथ कैटरिंग में जॉब दिलाने के बहाने कई लड़कियों को अपनी गैंग में शामिल कर चुका है। ये लड़कियों की अमीर लड़कों को टारगेट कर दोस्ती करवाते थे। लड़कियां नंबर लेकर पहले वाट्स एप पर चैटिंग करती फिर मिलने बुलाती थी। पहली बार युवक मिलने आता तो ये उसकी रैकी करते और दूसरी मुलाकात किसी सुनसान जगह में कराते थे। जैसे ही युवक-युवती साथ में होते वैसे ही गैंग के दूसरे सदस्य उन्हें दबोच लेते। फिर लड़की से छेड़छाड़ की रिपोर्ट करवाने का बोल धमकाते और घड़ी, चेन, अंगूठी, मोबाइल, पर्स और वाहन लूट लेते। कई पीड़ित तो रिपोर्ट भी नहीं करते। गैंग से छह लाख का माल बरामद किया है। गैंग ने छह वारदात करना कबूला है।

वाट्स एप

ताजा समाचार पाने के लिए यहां क्लिक कर हमारा फेसबुक पेज लाईक करें