राम रहीम सहित चार आरोपी दोषी करार, 17 जनवरी को होगा सजा का ऐलान

पंचकूला। पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में शुक्रवार को पंचकुला के स्पेशल सीबीआई कोर्ट फैसला सुनाएगी. गुरमीत राम रहीम इस मामले में आरोपी है. रोहतक की सुनारिया जेल में बंद रीम रहीम की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से ही होगी. वहीं सुनारिया जेल और विशेष अदालत के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. साथ ही पंजाब और हरियाणा पुलिस ने अलर्ट जारी किया है. दरअसल, पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड मामला जिसका फैसला आज आना है वो 16 साल पुराना है. साल 2002 में पत्रकार रामचंद्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. दरअसल, रामचंद्र लगातार अपने समाचार पत्र में डेरे में होने वाले अनर्थ से जुड़ी खबरों को छाप रहे थे.

वहीं रामचंद्र के परिवार ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया था, उनकी याचिका पर ही अदालत ने हत्याकांड की जांच नवंबर 2003 को सीबीआी को दे दी, जिसके बाद 2007 में सीबीआी ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करते हुए डेरा मुखी गुरमीत राम रहीम सिंह को हत्या की साजिश रचने का आरोपी माना था. आज पत्रकार हत्याकांड मामले में जज जगदीप सिंह ही फैसला सुनाएंगे. ये वही जज हैं जिन्होंने साध्वी दुष्कर्म मामले में गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाई थी. वहीं पहले की तरह हुए उपद्रव का नजारा दोबारा न देखना पड़े, इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. 8 जिलों में सुरक्षा बलों की 25 कंपनियां तैनात की गई है. बठिंडा और मानसा में लगभग 15 कंपनियों के 1200 जवान तैनात किए गए हैं. वहीं फरीदकोट, फिरोजपुर, फाजिल्का और मोगा में 10 कंपिनयों के 700 जवान तैनात किए गए हैं. साथ ही बरनाला के बाजाखाना रोड और धनौला रोड स्थित डेरे से जुड़े नामचर्चा घरों के बाहर 50-50 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. पंचकूला में धारा 144 लगा दी गई है.

Loading…