लडकियां बेच-बेचकर बन गया 80 करोड का मालिक, बेच चुका है इतनी लडकियां

hindi sax tory, hindi sex, Hindi sex story, Rape, sex, sex hindi, बलात्कार, सेकसी, सेकसी कहानी, सेक्स, सेक्स स्टोरी, सेक्स हिन्दी, सेक्सी, सेक्सी कहानी

रांची। जमानत पर बाहर आया 5000 लड़कियों का सौदागर पन्नालाल महतो प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से भोले-भाले आदिवासी लड़के-लड़कियों का सौदा कर महज 15 वर्षों में 80 करोड़ से अधिक की संपत्ति का मालिक बन चुका है। वह 2003 में घर से 5000 रुपये लेकर दिल्ली गया था। अब करोड़ों की चल-अचल संपत्ति उसने बना ली है।
उसने मानव तस्करी से अर्जित की गई एक करोड़ 81 लाख 75 हजार रुपये से सिर्फ अरगोड़ा में 70 डिसमिल जमीन खरीदी है, जिसकी कीमत आज 50 करोड़ रुपये से ऊपर बताई जा रही है। उस पर मानव तस्करी सहित कई आरोपों में रांची, खूंटी व दिल्ली में कुल नौ मामले दर्ज हैं। तीन साल पहले उसकी संपत्तियों का ब्योरा देते हुए खूंटी के तत्कालीन एसपी ने ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) जांच की अनुशंसा की थी। इस बार पुलिस मुख्यालय उसकी संपत्ति से संबंधित ब्योरे के साथ ईडी जांच की अनुशंसा करने जा रहा है। खूंटी निवासी पन्नालाल ने खूंटी पुलिस के सामने अपराध स्वीकार करते हुए बयान दर्ज कराया था। उसने बताया था कि 2003 में घर से 5000 रुपये लेकर दिल्ली गया, वहां चार हजार रुपये किराये का मकान लिया। बिरसा भगवान वेलफेयर सोसाइटी नामक प्लेसमेंट एजेंसी खोली और लड़कियों की तस्करी शुरू कर दी। प्लेसमेंट एजेंसी का प्रचार-प्रसार कर अपने कई एजेंट बनाए। उसने आगे बताया कि एजेंसी की कमाई से चल-अचल संपत्ति खरीदी। 2003 के मई में सुनीता (अब पत्नी) से मुलाकात हुई। वह नौकरी के लिए आई थी। पढ़ी-लिखी व बोलचाल में तेज थी। उसे नौकरी दी, बाद में उससे शादी कर ली। सुनीता मां नहीं बन सकती थी तो उसने अपनी चचेरी बहन हीरामनी से दूसरी शादी करवा दी, जिससे दो लड़की व एक लड़का हुआ। प्लेसमेंट एजेंसी की कमाई से 2005 में शकूरपुर में जेजे कॉलोनी में 25-25 गज जमीन के दो टुकड़े खरीदे, उन पर चार मंजिला मकान बनाया। वहीं पर अपना कार्यालय रखा।
उसके एजेंट गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद, चंडीगढ़, जयपुर, लखनऊ, कानपुर, पटना, बेंगलुरु, हैदराबाद आदि शहरों में लड़कियों की तस्करी करते थे। कमीशन में मोटी कमाई होती थी।

loading…