दरिंदे बाप ने बेटी पर किया दरांती से हमला, और फिर किया ये काम…

खंडवा. शहर से सटे जसवाड़ी गांव में शुक्रवार शाम पिता ने बेटी (19) के साथ इसलिए मारपीट की कि वह उनकी मर्जी अनुसार शादी नहीं करना चाहती। बेटी की जिद है कि वह पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना चाहती हैं। मां ने खेत में काम कर जैसे-तैसे उसे स्कूल तक पढ़ाया। अब वह कॉलेज पहुंच गई। बीएससी कर रही है, लेकिन पिता को यह सब पसंद नहीं। पिता का कहना है कि लड़की 19 साल की हो रही है। अब उसकी कहीं भी शादी कर देना चाहिए। इसी बात को लेकर पिता ने मारपीट कर बेटी के हाथ पर दरांती मार दी, जिससे वह घायल हो गई। पिता की प्रताड़ना से तंग आकर शुक्रवार शाम पीड़ित युवती अपनी मां के साथ कोतवाली पहुंची। फरियादी बेटी की शिकायत पर पिता के खिलाफ मारपीट, गालीगलौज का केस दर्ज किया।
होश संभाला तब से पिता के हाथ मां को पिटते देख रही हूं, इस बार तो हद हो गई। उन्होंने मुझ पर दरांती से वार किया। खेत में मजदूरी कर मां ने मुझे पहली से 12वीं तक किस मुसीबत से पढ़ाया, बता नहीं सकती। पिता मेरी शादी कराना चाहते हैं, लेकिन मैं अभी शादी नहीं करना चाहती। उनका कहना है कि मैं जहां चाहूंगा वहां तेरी शादी कर दूंगा। मैं अभी शादी नहीं करना चाहती। बीएससी प्रथम वर्ष में प्रवेश किया है। पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना है। यह मेरा सपना है, मेरी जिद है इसके आगे मैं अपने पिता की नहीं चलने दूंगी। चाहे वह मेरी जान क्यों नहीं ले ले। पिता के ही कारण मेरे दो भाइयों 15 व 17 साल का भविष्य बर्बाद हो गया। दोनों भाई बकरी चराते हैं, जबकि वह भी पढ़ना चाहते थे, लेकिन पिता ने उन्हें स्कूल की पढ़ाई पूरी करने नहीं दी।
कोतवाली में शुक्रवार शाम एफआईआर दर्ज होने के बाद मां-बेटी और ज्यादा घबरा गई। अब मां को डर है कि कहीं वह उसकी बेटी को जान से न मार दें। पीड़ित युवती की मां ने कहा मैं तो शादी के बाद से ही पति की मार खाते हुए आ रही हूं, और कोई महिला होती तो कब की भाग जाती। बेटी जवान हो गई इसके बाद भी मेरे पति को कुछ समझ नहीं आता। वह हम्माली-मजदूरी करने वालों के हाथ में बीएससी पढ़ रही लड़की का रिश्ता करना चाहते हैं। भलां यह किसे मंजूर होगा। मेरी बेटी पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना चाहती है। मैं उसे पढ़ाऊंगी इसके लिए चाहे दिन-रात मजदूरी क्यों न करना पड़े। 10वीं में 90% व 12वीं में 80 % अंकों से पास हुई। इसके पहले पांचवीं और आठवीं में भी प्रथम आई थी। मेरी जिद है कि वह पढ़े।

Loading…