सुहागरात में पति से पहले कमरे में घुस गया ससुर, फिर पति आया तो बीवी बोली, वो काम तो हो गया…

सामाज को बेहद शर्मसार करने वाला मामले सामने आते रहते है। ऐसे ही एक मामले में पति पत्नी की मिलन की रात से ही ससुर पर बेटी समान बहु से दुष्कर्म कर दिया। घटना कौशांबी जिले में जुलाई 2016 की है। पीड़िता बहू ने यह भी आरोप लगाया था कि पति व सास से शिकायत करने पर उसे चुप रहने को कहा गया। वहीं ससुराल मे ससुर की हैवानियत झेलने वाली पीड़िता जब मायके पहुंची तो उसे वहां भी समाजिकता की दुहाई देकर चुप करा दिया गया। बिरादरी की पंचायत के बाद ससुर ने माफी मांगा तो पीड़िता ससुराल वापस पहुंच गई लेकिन इस बार भी उसके साथ ससुर की हैवानियत जारी रही। पीड़िता का आरोप है कि एक साल तक बंधक बनाकर उसके साथ हैवानियत की गई।

demo

करारी इलाके के रहने वाले एक शख्स ने किसी तरह मेहनत मजदूरी करके अपनी बेटी की शादी जुलाई 2016 में की थी। बेटी के पिता ने अपने हैसियत के मुताबिक दान दहेज देकर बेटी को विदा किया। बेटी जब ससुराल पहुंची तो शादी की पहली रात को उसके ससुर ने दूल्हे बेटे को एक खास रिश्तेदारी में बारात में जाने के लिए भेज दिया तथा खुद देर रात नवविवाहिता के कमरे में घुस गया और बल पूर्वक नव विवाहिता के साथ बलात्कार को अंजाम दिया। घटना को अंजाम देने के बाद ससुर बहु को किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी देकर चला गया। ससुर की दरिंदगी की शिकार नवविवाहिता ने सारी दास्तां सुबह अपने सास से सुनाई, सास ने लोक लाज की बात कहते हुए कहा कि घर की बात घर मे ही रहने दो, मैं अपने पति को समझा दूंगी। दुबारा से आपका ससुर आपके साथ ऐसी घटना को अंजाम नही देगा।

MUZAFFARNAGAR NEWS ऐप पर बेहतर खबरें पाने के लिये अपने ऐप को यहां क्लिक करके अपडेट जरुर कर लें

 

नवविवाहिता अपने सास की बात तो मान गयी, लेकिन उसके साथ ससुर द्वारा अत्याचार नही बंद किया गया। ससुर लगातार मौका पाते ही शर्मनाक वारदात को अंजाम देता रहा। नवविवाहिता जब मायके पहुंची तो उसने आप बीती अपने मां और बाप से बतायी। माँ बाप ने अपने तमाम रिश्तेदारों को बुलाया। रिश्तेदारों की पंचायत ने दुराचारी ससुर के मौजूदगी में दुबारा से ऐसी घटना को न अंजाम देने के शर्त पर अपना फैसला सुनाते हुये विवाहिता को ससुराल दुबारा भेज दिया।
विवाहिता जब फिर ससुराल पहुंची तो कुछ दिनों तक सब ठीक ठाक गुजरा, उसके बाद फिर वही शर्मनाक वारदात को दुराचारी ससुर बेखौफ होकर दोहराने लगा। विवाहिता अपने ससुर के धमकियों के डर वश लगभग एक साल तक जुल्म सहती रही। आखिरकार विवाहिता अत्याचार सहने का बोझ नहीं सह सकी तो वो फिर से अपने माँ बाप को सारी दास्तां बताई। मां-बाप पीड़िता को लेकर 2017 में करारी थाने पहुंचे और मामला दर्ज कराया।

loading…