• सुहागरात पर पत्नी ने किया ये काम, सैनिक पति ने छोड़ा मैदान...

    item-thumbnail  गाजीपुर। देश की सीमा पर दुश्मनों के दांत खट्टे कर देने वाले सैनिक को उसकी पत्नी ने सुहागरात में ही मैदान छोडऩे को विवश कर दिया। यह मामला उत्तर प्रदेश गाजीपुर जिले का है। शादी से पहले गाजीपुर के एक फौजी ने पत्नी को लेकर बड़े ख्वाब सजाए थे। दिल में कई अरमानों को पाला था। पत्नी के रूप में उसे सुख-दुख का साथी मिलेगा लेकिन सब अरमान एक झटके में ही टूट गए जब सुहागरात में ही पत्नी सिगरेट जलाई उसे भी पीने का ऑफर दे दिया। फौजी पति के सिगरेट पीने से इन्कार के बाद वह कमरे में एक कोने पर बिस्तर लगाकर सिगरेट के छल्ले उड़ाने लगी। गाजीपुर में आज यह समस्या लेकर फौजी का परिवार पुलिस अधीक्षक के परिवार परामर्श केंद्र तक पहुंचा। वहां पर हर व्यक्ति सैनिक की पीड़ा को सुनने के बाद हैरान था। पति के आरोप पर पत्नी ने उसको सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही उसने फौजी से तलाक की पेशकश कर दी। सदस्यों ने उसे काफी समझाया लेकिन वह उनकी एक न सुनी और लिखित शिकायत दी कि अगर वह ससुराल गई तो उसे मार दिया जाएगा। गाजीपुर कोतवाली क्षेत्र के फुल्लनपुर गांव के सुनील (परिवर्तित नाम) सेना में कार्यरत हैं। उन्होंने 12 जून को अपर पुलिस अधीक्षक नगर को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उनकी शादी 13 दिसंबर 2015 में सुहवल थाना क्षेत्र के पकड़ी गांव की रजवंती (परिवर्तित नाम) के साथ हुई थी। पति सुनील का कहना है कि परिवार के लोगों ने दहेजरहित विवाह किया। पत्नी जब घर आई तो सुहागरात को ही सिगरेट जलाकर पीने को मजबूर करने लगी। जब मैंने इन्कार किया तो उसने कमरे में अलग बिस्तर लगा लिया और कमरे में सिगरेट के छल्ले उड़ाने लगी। कई दिनों तक उसे समझाया लेकिन वह मानने को तैयार नहीं हुई। इससे अलग पत्नी रजवंती का कहना है कि उसके पति ने मेरे नाम से फेसबुक पर फेक आइडी बनाकर मेरी पसर्नल फोटो अपलोड कर दी है। मेरी ही आइडी से लोगों से बात करते थे। मैंने कई बार टोका लेकिन वह जब नहीं माने तो मैंने आइडी को लाक कराया। पत्नी ने आरोप लगाया कि उसके पति की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। बात-बात पर धमकी देते हैं। दोनों की बात सुनने के बाद परिवार परमार्श केंद्र के सदस्यों ने समझाया। पति बार-बार पत्नी को साथ ले जाने की जिद कर रहा था जबकि पत्नी उसके साथ रहने से इन्कार कर रही थी। बात नहीं बनने पर सदस्यों ने सुनवाई की अगली तारीख 10 जुलाई मुकर्रर कर दी। परिवार परामर्श केंद्र के सदस्यों ने जब फौजी की पत्नी से कहा कि अगर अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती हो तो तलाक दे दो। यह बात सुनने के बाद फौजी की पत्नी ने कहा कि तालाक उसी शर्त पर दूंगी, जब दहेज की रकम ससुराल के लोग वापस करेंगे। उसकी बात सुनने के बाद सब सन्न रह गए। सदस्यों ने कहा कि दोनों पक्ष के लोग आपस में बैठ कर विचार-विमर्श करें। इसके बाद कोई निर्णय लिया जाएगा।



    Last Updated On: 2016-11-08 18:27:39
loading...
loading...