• मुलायम की बैठक में पहुंचे सिर्फ 11 विधायक, सीएम अखिलेश ने रोकर कहा...

    item-thumbnail  नई दिल्ली: यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले मुलायम सिंह यादव परिवार बिखर चुका है. एसपी मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार को अनुशासनहीनता के आरोप में बेटे अखिलेश और चचेरे भाई रामगोपाल यादव को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया. मुलायम ने कहा कि रामगोपाल अखिलेश का भविष्य खराब कर रहे हैं. उन्होंने बिना हक पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाने का ऐलान किया है. एसपी मुखिया ने कहा कि इन सबमें अखिलेश भी रामगोपाल के साथ हैं, लिहाजा दोनों को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है. इस डेवलेपमेंट के बाद बैठकों का दौर शुरु हो गया है.
     बैठक में रो पड़े अखिलेश यादव और कहा- पिता को उत्तर प्रदेश जीत कर दूँगा. मैं पिता से अलग नहीं हूं.लालू प्रसाद यादव ने मुलायम सिंह से बात की और कहा- सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ एकजुट रहने की जरूरत है.सपा के वरिष्ठ नेता बेनी प्रसाद वर्मा बैठक में शामिल होने के लिए मुलायम सिंह यादव के घर पहुंचे.अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह पर भारी पड़ते दिख रहे हैं. अब तक अखिलेश की बैठक में 198 विधायक पहुंच चुके हैं. जानें- कैसे बच सकती है अखिलेश यादव की सरकार,  क्या है पूरा नंबर गेम!मुलायम सिंह यादव की बैठक में अभी तक 73 उम्मीदवार और सिर्फ 11 विधायक पहुंचे. सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए मुलायम के घर के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. सपा नेता अतीक अहमद ने कहा- नेता हमारे मुलायम सिंह हैं जबकि मुख्यमंत्री के तौर पर अखिलेश यादव हमारी पसंद हैं.आजम खान आज दोपहर तीन बजे बैठक करेंगे. कुछ देर पहले ही आजम खान ने कहा है कि वो अखिलेश और मुलायम में से किसी की भी बैठक में शामिल नहीं होंगे.अखिलेश के घर के बाहर समर्थकों की भारी भीड़ उमड़ी, सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए.



    Last Updated On: 2016-12-31 12:06:48
loading...
loading...