• शक्ति परीक्षण में मुलायम पर भारी पडे अखिलेश यादव

    item-thumbnail  नई दिल्ली: यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले मुलायम सिंह यादव परिवार बिखर चुका है. एसपी मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शुक्रवार को अनुशासनहीनता के आरोप में बेटे अखिलेश और चचेरे भाई रामगोपाल यादव को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया. मुलायम ने कहा कि रामगोपाल अखिलेश का भविष्य खराब कर रहे हैं. उन्होंने बिना हक पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाने का ऐलान किया है. एसपी मुखिया ने कहा कि इन सबमें अखिलेश भी रामगोपाल के साथ हैं, लिहाजा दोनों को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है. इस डेवलेपमेंट के बाद बैठकों का दौर शुरु हो गया है.
     अखिलेश यादव अपने पिता मुलायम सिंह पर भारी पड़ते दिख रहे हैं. अब तक अखिलेश की बैठक में 180 विधायक पहुंच चुके हैं.मुलायम सिंह यादव की बैठक में अभी तक 67 उम्मीदवार और सिर्फ 11 विधायक पहुंचे. सपा नेता अतीक अहमद ने कहा- नेता हमारे मुलायम सिंह हैं जबकि मुख्यमंत्री के तौर पर अखिलेश यादव हमारी पसंद हैं.आजम खान आज दोपहर तीन बजे बैठक करेंगे. कुछ देर पहले ही आजम खान ने कहा है कि वो अखिलेश और मुलायम में से किसी की भी बैठक में शामिल नहीं होंगे. अखिलेश यादव की बैठक के लिए विधायकों और मंत्रियों का उनके आवास पर पहुंचना शुरू. फिलहाल 100 विधायक और 12 मंत्री पहुंच चुके हैं. इस बैठक में मोबाइल ले जाने की इजाजत नहीं है.
     बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने कहा- ये पारिवारिक ड्रामा लगता है क्योंकि मोदी जी आयाम पर लाए हैं राजनीति को कि गुंडे प्रवृति के लोग राजनीति में ना हों. धीरे-धीरे सपा से गुंडे तत्व दूर हो रहे हैं और अखिलेश जी एक नेता के रूप में उभरेंगे.सपा के प्रवक्ता पद से त्यागपत्र देने वाली जूही सिंह ने कहा- जब मेरे मुख्यमंत्री को निकाल दिया गया है तो ये मेरा दायित्व बनता है कि मैं भी प्रवक्ता के पद से त्याग पत्र दे दूं. मैं नेता जी के खिलाफ नहीं हूं लेकिन अपने मुख्यमंत्री के साथ खड़ी हूं.परिवार में फूट पर पहली बार बोले अमर सिंह ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. अमर सिंह ने कहा, ‘आज तो कुछ ऐसा लग रहा है कि राम चंद्र कह गए सिया से ऐसा कलयुक आएगा, बेटा करेगा राज बेचारा बाप जंगल को जाएगा. राजनीति में ये जो कुछ हो रहा है ये बिल्कुल गलत है. मैं अपना पूरा समर्थन नेता जी को देता हूं. उनकी अवमानना पार्टी का अनुशासन भंग करने के समान है. उनके (मुलायम) के विरूद्ध कितने भी बड़े लोग जो कुछ भी काम कर रहे हैं, वो बिल्कुल असंवैधानिक, अनैतिक और गलत है.’आज सुबह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने अखिलेश यादव को फोन किया और कहा कि वो अखिलेश के साथ हैं. ममता ने कहा- डटे रहो हम तुम्हारे साथ हैं.सीएम अखिलेश यादव ने आज सुबह 9 बजे सभी विधायकों की बैठक बुलाई है. देखना ये दिलचस्प होगा कि इस बैठक में कितने लोग पहुंचते हैं.सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अपने घोषित प्रत्याशियों की आज बैठक बुलाई है. बैठक सुबह 10.30 बजे पार्टी कार्यालय 19 विक्रमादित्य मार्ग पर शुरु होगी.



    Last Updated On: 2016-12-31 11:35:03
loading...
loading...